बुधवार, 13 अप्रैल 2011

कुमाऊँनी में विभिन्न ध्वनियों के लिए कुछ विशेष शब्द

क - कड़कड़ाट
आप बहुत बक- बक करते हो.
तुम भौते कड़कड़ाट करछा.

ख - खड़खड़ाट ( दरवाजा खटखटाने की आवाज)

ग - गड़गड़ाट (बादल गरजने की आवाज को गड़गड़ाट, घड़घड़ाट, घौड़ाट इत्यादि बोलते हैं)

घ - घड़घड़ाट/ घौड़ाट
बादल आवाज कर रहे हैं.
बादव घड़घड़ाट/ घौड़ाट करनी.

च - चड़चड़ाट ( गर्म तेल में पानी गिरने पर)

छ - छड़छड़ाट (सूखे पत्तो पर छिपकली या साँप के चलने की जो आवाज आती हैं उसे कुमाऊँनी में छड़छड़ाट कहते हैं )

झ - झड़झड़ाट (बिच्छू घास का शरीर में स्पर्श हो जाने पर)

ट - टड़टड़ाट ( टहनी टूटने की आवाज)

त - तड़तड़ाट ( बिजली गिरने की आवाज)

थ - थरथराट
वह डर से थर - थर कॉप रहा हैं.
वीक डरलै थरथराट पड़ गो/ उ डरलै थर-थर कामऽनौ .

फ - फड़फड़ाट
मछली पानी से बाहर निकालने पर फड़फड़ाती हैं.
माँछ कै पाणि बे भ्येर निकावो तो फड़फड़ाट करूँ.

ब - बड़बड़ाट (बकबक करना )

म - मड़मड़ाट (नोट - कुमाऊँनी में हल्की सी आवाज निकालकर बोलने को मड़मड़ाट कहते हैं, इसका उपयोग ज्यादातर किसी को हल्की आवाज में गाली देने में किया जाता हैं )

ल - लपलपाट ( जी ललचाना )

स - सरसराट
साँप सर-सर करता हैं
श्याप सरसराट करूँ

ह - हड़हड़ाट
आपको हमेशा बहुत जल्दबाजी रहती हैं.
तुमनके हर बखत भौते हड़हड़ाट पौङू/पौड़िरुऊ.














3 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्छा, धन्यवाद आप लोगो का....ऐसे ही साईट को अपडेट करते रहो.

    उत्तर देंहटाएं
  2. wah kya baat hain dajyu....aise sabd hum log use to karte hain...magar kabhi socha nahi is baare main ki ye itne important hain

    उत्तर देंहटाएं
  3. भावना जी अर् नंदन जी बहोत धन्यवाद आपको प्रतिक्रिया लीजी ...आशा छु कि आप हमेशा साथ राला ....

    उत्तर देंहटाएं